February 25, 2010

अनंत सफ़र....

१५ नवम्बर १९८९, को शुरू हुआ सचिन का ये अनंत सफ़र कब रुकेगा ये कोई नहीं जानता। इसका जवाब सिर्फ सचिन के ही पास है। कल सुबह ही मैंने अपने पोस्ट में लिखा था कि सचिन महान हैं ,इसका एक और उदाहरण आज उनकी एक और पारी देखने के बाद पता चलता है। आज की पारी ने तो सचिन को अपने युग में साथ खेलने वाले सारे खिलाडियों से ज्यादा महान बना दिया है। आज उनकी पारी देखकर लगा ही नहीं कि कोई ३६ साल का खिलाड़ी खेल रहा है, और ये वो इंसान खेल रहा है जो क्रिकेट में २० साल पूरे कर चुका है। मैंने सुबह अपने पोस्ट में लिखा था कि कोई कहता है कि सचिन समय को रोक देते है, आज इसका सबसे बड़ा उदाहरण मैंने अपने ऑफिस में देखा जब सचिन १८७ रन पर खेल रहे थे , मैंने ये देखा कि लोगो ने अपने सारे काम छोड़ कर बस अपने कानो को कमेंट्री में लगा दिया काम की तो किसी को कोई फ़िक्र ही नहीं थी। वाकई में सचिन एक ऐसे व्यक्ति हैं, जिनके अंदर समय रोकने कि ताकत है। आज ये बात सच साबित हो गयी है कि जो किसी खिलाड़ी से नहीं होता वो सचिन ही कर सकते हैं,आज वही हुआ जिसे होने में लगभग ४० साल और २९६२ एकदिवसीय मैच लग गए। यह खिलाड़ी आज एक खिलाड़ी नहीं रह गया है हम ये कह सकते है कि सचिन वो है जो संपूर्ण भारत को जोड़ने वाले है ये वे इंसान है जो लगातार २१ साल से हमारे चेहरे पर ख़ुशी दे रहे हैं। सचिन का खेल लोगों के चेहरे पर मुस्कान लाता है। इसका एक उदाहरण है जब २६ नवम्बर को मुंबई में आतंकवादी हमला हुआ था उसके कुछ दिन बाद ही सचिन ने इंग्लैंड के खिलाफ चेन्नई में शतक बनाया था और डरे हुए भारतीयों के चेहरे पर मुस्कान वापस लाये थे। आज सचिन एक खिलाड़ी नहीं एक प्रेरणा बन गए है आज के युवा वर्ग को उनसे सीखना चाहिए कि सफलता का कोई सरल तरीका नहीं है वो सिर्फ कठिन परिश्रम से ही मिल सकती है। उनकी एकाग्रता से ये सीख मिलती है कि कोई भी काम अगर इस तरह से एकाग्र होकर करने से कभी रुक नहीं सकता। आज कि पारी ने तो सचिन को सबसे अलग और सबसे ऊपर रख दिया है। आज देख कर लगा कि सच में ये क्रिकेट का चरम है और सचिन उस चरम पर चमकने वाला सबसे बड़ा सितारा है। बस सचिन ऐसे ही खेलता रहे और इस खेल को महान बनाते जाये उनकी इस पारी ने खेल को अपने आप पर फक्र करने पर मजबूर कर दिया है। २० साल से चला आ रहा ये सफ़र अनंत है जिसका कोई अंत नहीं है इसका अंत सिर्फ और सिर्फ सचिन ही जानते है। इस पारी के बाद सचिन को इस खेल का सबसे बड़ा खिलाड़ी कहा जाये तो ये गलत नहीं होगा।
लेखक : पंकज सिंह
प्रस्तुतकर्ता :देवेश प्रताप

3 comments:

Udan Tashtari said...

सही कहा-क्रिकेट का सबसे बड़ा खिलाड़ी-सचिन!!

Mithilesh dubey said...

सच में महान हैं सचिन ।

sangeeta swarup said...

सचिन ने वो कर दिखाया जो अभी तक ४० सालों में किसी ने नहीं किया....सच है वो एक महान खिलाड़ी हैं...

एक नज़र इधर भी

Related Posts with Thumbnails